Wednesday, October 17, 2012

Flight of Dreams

"When I look at the sky I realize how far could be my flight, but when I look at the ground I actualize that I need to build up my Wings & the Energy to fly."

As I brushed through this "Chand Aur Kavi" poem by the famous Hindi Poet Shri Ramdhari Singh Dinkar it gave me an instant kick. I felt rejuvinated and recuperated from my day long work, for once I was out from my usual routine thinking and was feeling featherlite.Life is complicated coz we tend to make it complicated but its fun if we make it a fun.

I have been working on Strategies and Processes to maximize my business objectives but I never thought that a simple poetry could give me a deep rooted management lesson in simple language which the mangement books couldn't teach me. The crux of the peom is " Dream, Believe in it,Plan,Work Hard and dont give up till you realize it" and to firm it up further "You need to fall in love with your dreams to realize that dream".

Enjoy the poerty from the renowned poet to sum it all....

चाँद और कवि   

रात यों कहने लगा मुझसे गगन का चाँद,
आदमी भी क्या अनोखा जीव होता है!
उलझनें अपनी बनाकर आप ही फँसता,
और फिर बेचैन हो जगता, न सोता है।
जानता है तू कि मैं कितना पुराना हूँ?
मैं चुका हूँ देख मनु को जनमते-मरते
और लाखों बार तुझ-से पागलों को भी
चाँदनी में बैठ स्वप्नों पर सही करते।
आदमी का स्वप्न? है वह बुलबुला जल का
आज बनता और कल फिर फूट जाता है
किन्तु, फिर भी धन्य ठहरा आदमी ही तो?
बुलबुलों से खेलता, कविता बनाता है।
मैं न बोला किन्तु मेरी रागिनी बोली,
देख फिर से चाँद! मुझको जानता है तू?
स्वप्न मेरे बुलबुले हैं? है यही पानी?
आग को भी क्या नहीं पहचानता है तू?
मैं न वह जो स्वप्न पर केवल सही करते,
आग में उसको गला लोहा बनाता हूँ,
और उस पर नींव रखता हूँ नये घर की,
इस तरह दीवार फौलादी उठाता हूँ।
मनु नहीं, मनु-पुत्र है यह सामने, जिसकी
कल्पना की जीभ में भी धार होती है,
बाण ही होते विचारों के नहीं केवल,
स्वप्न के भी हाथ में तलवार होती है।
स्वर्ग के सम्राट को जाकर खबर कर दे-
रोज ही आकाश चढ़ते जा रहे हैं वे,
रोकिये, जैसे बने इन स्वप्नवालों को,
स्वर्ग की ही ओर बढ़ते आ रहे हैं वे।

1 comment:

  1. Mr. Ajay, great saying. These poems are great and giving many meaning to life. Specially,poem of Dinkar not only have a lot of good meaning but also have lot n lot of latent energies in its words, once you start reading, it stimulate you, energies you and give a power to think and do something extraordinary.
    -Pankaj Srivastava